Header Ads

Structure of c program in hindi ,सी प्रोग्राम की संरचना हिंदी में

'C' प्रोग्राम का structure

'C' प्रोग्राम का structure

'c' programmimg एक procedural ओरिएंटेड language है जिसका तात्पर्य है कि 'c' programming language का प्रत्येक प्रोग्राम एक पूर्व -निश्चित procedure पर आधरित होते है | 'c' progamming language में program बनाने के लिए एक क्रम निर्धारित किया गया है तथा c प्रोग्राम में इसी निर्धारित क्रम को ध्यान में रखते हुए program statement लिखे जाते है

'c' program का निर्धारित क्रम निम्नलिखित है :-
डॉक्यूमेंटेशन section
लिंक section
global डिक्लेरेशन सेक्शन
main {
global डिक्लेरेशन सेक्शन
डिक्लेरेशन पार्ट
global डिक्लेरेशन सेक्शन
excutable पार्ट }
user डिफाइंड function 1 { }

Documentation section : ⇒

इस section में program का objective (उद्देश) लिखा जाता है तथा objective को cmment लाइन में लिखा जाता है comment लाइन के लिए statement से पहला /*तथा statement के बाद */ लगया जाता है |

link section :⇒

इस section में c को आवश्यक library फाइल को प्रोग्राम के साथ लिंक किया जाता है ताकि library functions को प्रोग्राम में फाइल्स में उपस्थित library functions को प्रोग्राम में use किया जा सके | इस section में preprocessor directive (#include) का प्रयोग किया जाता है|

global डिक्लेरेशन section :⇒

इस section में global variabale declare किये जाते है global variabale को पूरे प्रोग्राम में कहीं भी ,किसी भी function में उपयोग किया जा सकता है अर्थात global variabale का स्कोप सम्पूर्ण प्रोग्राम में होता है |

main () :⇒

'c' प्रोग्राम में main की सबसे मुख्य भूमिका होती है 'c' progamming लैंग्वेज के प्रत्येक प्रोग्राम में main() कि डेफिनिशन बनाना आवश्यक होता है | क्योकि जैसे ही 'c' प्रोग्राम को रन कराया जाता है कम्पाइलर सर्वप्रथम main() को calling करता है तथा प्रोग्राम में main() की डेफिनिशन को सर्च करता है | अतः प्रत्योक 'c' प्रोग्राम में main() की डेफिनिशन होना आवश्यक होता है |

डिक्लेरेशन भाग :⇒

इस पार्ट में main() में use किये जाने सभी variabale को declare किया जाताहै | main() के अन्दर सर्वप्रथम variable का डिक्लेरेशन किया जाता है |

excutable पार्ट :⇒

इस पार्ट में वे सभी स्टेटमेंट लिखे जिन्हें किसी operation को perform करने के लिए लिखा जाता है | जैसे इनपुट आउटपुट operation , arithmetc एक्सप्रेशन ,आदि

user define function :⇒

main() की डेफिनिशन समाप्त होने के बाद user define function की डेफिनिशन लिखी जाती है , यह section 'c' प्रोग्राम का अंतिम section होता है |
>
एक टिप्पणी भेजें