C++ का परिचय हिंदी में , C++ Introduction in Hindi , बेसिक concepts

C++ का परिचय हिंदी में

C++ का परिचय हिंदी में , C++ Introduction in Hindi C++ का परिचय हिंदी में , C++ Introduction in Hindi , बेसिक concepts

C++ का परिचय हिंदी में , C++ Introduction in HindiC++ का परिचय हिंदी में , C++ Introduction in Hindi , बेसिक concepts , c++ in hindi , c++ introduction, c++ pdf , c++ mcq in hindi

C++ के इस पोस्ट में आपका स्वागत है | आप इस पेज में पहुँच गयें है , इसका मतलब की आप proficient C++ programmer बनाने के सही रास्ते में है , क्योकि C++ बहुत विस्तृत है इसलिए उसका पूरा अध्ययन एक पेज में करना संभव नही है इसलिए हम इसके कई पोस्ट लाने वाले है जिनकी संख्या निश्चित नही होगी |

READ NOW=:- C++ में Multi-Line comments , C++ में single- Line comments , बेसिक concepts of comments in C++

C++ के अपने इस पोस्ट में में हम पढने वाले है=>

  1. connection to c++ ?
  2. What is C ++?
  3. How to create the first program of C ++?
  4. The tools needed to build C ++ programs and their introduction?
  5. Printing words by program of C ++?
  6. What is the role of the comment in the C ++ program?
  7. How many types of comments are there in the C ++ program?
  8. What are variables?
  9. Working with Variables?
  10. What is the basic arithmetic operator in C ++?
  11. What is assignment and increment operators?
  1. C का C++ से क्या connection है ?
  2. C++ क्या है ?
  3. C++ का पहला प्रोग्राम कैसे बनाये ?
  4. C++ के प्रोग्राम बनाने के लिए आवश्यक टूल तथा उनका परिचय ?
  5. C++ के प्रोग्राम के द्वारा शब्दों को प्रिंट करना ?
  6. कमेंट की C++ प्रोग्राम में क्या भूमिका है ?
  7. C++ प्रोग्राम में कमेंट कितने प्रकार के होते है ?
  8. वेरिएबल्स क्या है ?
  9. वेरिएबल के साथ कार्य करना ?
  10. बेसिक अंकगणितीय ऑपरेटर्स C++ में कौन कौन से है ?
  11. असाइनमेंट और इन्क्रीमेंट ऑपरेटर्स क्या है ?

C का C++ से क्या connection है ?

क्या आपको पता है प्रारंभ में 1979 में बेल लैब्स में Bjarne Stroustroup द्वारा विकसित, सी ++ को सी के successor(उत्तराधिकारी) के रूप में डिजाइन किया गया था। सी के विपरीत, हालांकि, सी ++ को एक ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड भाषा के रूप में डिज़ाइन किया गया था, जो इनहेरिटेंस, एब्स्ट्रैक्शन,encapsulation, पॉलीमॉर्फिज़्म जैसी अवधारणाओं को लागू करता है| C ++ में ऐसी कक्षाएं होती हैं जिनका उपयोग member data और member methods को contain करने के लिए किया जाता है। ये member methods member data का उपयोग करते हुए काम करते हैं। इस organization का प्रभाव यह है कि प्रोग्रामर डेटा models और actions का same उपयोग करके प्रदर्शन करना चाहता है। आपको ये जानकार हैरानी न होनी चाहिए कि कई लोकप्रिय C ++ कंपाइलरों ने C प्रोग्रामिंग का समर्थन करना जारी रखा है।

C++ क्या है ?

C++ एक general purpose programming language है C++ प्रोग्रामिंग भाषा का प्रयोग करके गेम्स, म्यूजिक प्लेयर , विडियो गेम्स , आर्ट एप्लीकेशन आदि बनाये जाते है | C++ को C से ही derived किया गया है और यह वृहद् स्तर पर इसी पर आधारित है | C ++ न केवल कई अनुप्रयोगों के लिए पसंद की प्रोग्रामिंग भाषा बनी हुई है, क्योंकि नई भाषाएं अभी भी कई एप्लिकेशन की आवश्यकताओं को पूरा नहीं करती हैं, C ++ को ANSI मानक द्वारा विनियमित किया जाता है और यह भाषा के रूप में विकसित होता रहता है।

C++ का पहला प्रोग्राम कैसे बनाये ?

एक C++ का प्रोग्राम स्टेटमेंट और कमेंट्स का संग्रह होता है | आइये पहला C++ प्रोग्राम देखते है |


1 #include<iostream>
2  using namespace std;
3  int main()
4  {
5  cout<<"My first C++ program";
6  return 0;
7  }

आइये इस पूरे प्रोग्राम को अलग अलग करके इसके सभी पार्ट के बारे में जानते है


1 #include<iostream>

C++ कई प्रकार के headers offer करता है , प्रत्येक header प्रोग्राम्स के properly वर्क करने के लिए सम्बंधित इनफार्मेशन contain किये रहते ई | इस विशेष प्रोग्राम को header कहते है | तथा नंबर का साइन # जो कि प्रोग्राम के शुरू में लगाया जाता है उसे कम्पाइलर प्रीप्रोसेसर को टारगेट करने के लिए उपयोग किया जाता है | इस case में #include प्री प्रोसेसर को हैडर को शामिल करने के लिए कहता है | नोट हैडर स्टैण्डर्ड stream objects को परिभाषित करता है जोकि डाटा को इनपुट और आउटपुट करने का कार्य करते है | C++ कम्पाइलर खाली स्थान को अनदेखा कर देता है | सामान्य तौर पर आप खाली स्थान का उपयोग प्रोग्राम कोड को पढने योग्य तथा उसका अच्छा structure बनाने के लिए कर सकते है | के बाद ऊपर दिए प्रोग्राम में आपको

2  using namespace std;

देखने को मिला होगा | तो

2  using namespace std;
कम्पाइलर को स्टैण्डर्ड namespace को प्रयोग करने को कहता है | std namespace में सी++ Standard Library के फीचर शामिल होते है | प्रोग्राम का execution , main function , int main() के साथ प्रारंभ होता है तथा किसी भी C++ प्रोग्राम का entry पॉइंट main() ही होता है चाहे प्रोग्राम कुछ भी करे | Curly brackets {} फंक्शन के शुरुआत और अंत को प्रदर्शित करते है , जिसे function body के नाम से भी जाना जाता है | Curly brackets {} के अन्दर लिखी इन्फोर्मेशन यह प्रदार्शित करता है की फंक्शन क्या करेगा जब यह execute होगा | इसके बाद अगली लाइन ,

5  cout<<"My first C++ program";
; का प्रयोग| हां हम THIS IS MY FIRST C++ PROGRAM डिस्प्ले में प्रिंट कराने के लिए करते हैं| C++ मे, स्ट्रीम्स का उपयोग इनपुट और आउटपुट ऑपरेशन को परफॉर्म करने के लिए किया जाता है| ज्यादातर प्रोग्राम एनवायरमेंट में , स्क्रीन मानक Default output destination होता है| C++ मे, cout स्ट्रीम ऑब्जेक्ट होता है, जिसे इसको एक्सेस करने के लिए उपयोग किया जाता है| cout का उपयोग insertion ऑपरेटर के साथ कंबीनेशन के रूप में किया जाता है| Insertion ऑपरेटर को ऐसे << लिखते हैं| इसके बाद लिखे गए अक्षर हमें स्क्रीन में दिखाई देते हैं| नोट: C++ मे, सेमीकलन(;) का प्रयोग स्टेटमेंट को टर्मिनेट करने के लिए किया जाता है| जैसा कि आपने ( cout<<"THIS IS MY FIRST C++ PROGRAM"; ) यहां पर देखा| प्रत्येक स्टेटमेंट सेमीकालन (;) के साथ समाप्त होता है| यह एक logical expression की समाप्ति को प्रदर्शित करता है|

स्टेटमेंट्स किसे कहते हैं?

एक ब्लॉक logically connected staments का set होता है| जो opening { और closing } braces से घिरा होता है| जैसे:


4 {
5 cout<<"My first C++ program";
6 return 0;
7 }
नोट: आप एक सिंगल लाइन में मल्टीपल स्टेटमेंट लिख सकते हैं | लेकिन आपको ध्यान रखना होगा कि प्रत्येक स्टेटमेंट के अंत में आपको इसे सेमी कॉलन से टर्मिनेट करना होगा | अगर आपने सेमी कॉलम नहीं लगाया तो प्रोग्राम एरर हो जाएगा |

return क्या है या return का क्या उपयोग है?

प्रोग्राम में लास्ट इंस्ट्रक्शन return स्टेटमेंट है| लाइन return 0; main() फंक्शन को टर्मिनेट कर देता है , और कॉलिंग प्रोसेस को वैल्यू जीरो रिटर्न कर देता है | जीरो के अलावा अन्य वैल्यू यह प्रदर्शित करती है कि प्रोग्राम का abnormal termination हुआ है | यदि रिटर्न स्टेटमेंट को नहीं लिखा जाता है तो C++ कंपाइलर implicitly return 0; को function के अंत में insert कर देता है|

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां