java first hello world program in hindi , why use public static void main in every program of java

java first program explain

java hello world program explaination

    इस पोस्ट में हम देखेंगे :
  1. Simple "Hello World" का program?
  2. Simple "Hello World" में class क्या उपयोग ?
  3. public static void main का उपयोग क्यों किया जाता है ?
  4. Simple "Hello World" में System , out , print का उपयोग

आइए एक सिंपल प्रोग्राम करते हैं जिसे कि हर एक प्रोग्रामर किसी नई लैंग्वेज को सीखने पर करता है जिसमें कि हम स्क्रीन पर हेलो वर्ल्ड प्रिंट करने का प्रयास करेंगे ,

आपसे request रहेगा कि अगर यह आपका जावा का पहला प्रोग्राम है, तो इस post को ध्यान से के बाद , बिना किसी हेल्प के स्वयं से प्रोग्राम को लिखने का प्रयास करें ,

इससे आपको स्वयं को परखने में मदद मिलेगी , और NEXT TIME आप ज्यादा कंसंट्रेशन के साथ फोकस कर पाएंगे ,

कभी भी दूसरे प्रोग्रामरो से स्वयं को कंपेयर करने की कोशिश ना करें, क्योंकि यहां पर आप यह सोचने लगते हैं, कि सामने वाला इतना कुछ कर लेता है, लेकिन मुझे यहां पर पहुंचने में बहुत टाइम लगेगा असल में ऐसा कुछ नहीं है, कुछ महीनों की मेहनत में ही आप अपने सामने वाले के बराबर या उससे आगे निकल सकते हैं , बस कंसेप्ट को क्लियर करते रहे,


class MyClass{
public static void main(String[] args{
System.out.print("Hello World");
}
}

आपको स्क्रीन पर एक प्रोग्राम दिख रहा होगा,

लेकिन इस प्रोग्राम को समझने से पहले इस प्रोग्राम में , और आम तौर पर प्रयोग में आने वाले स्पेशल करैक्टर को किस नाम से जाना जाता है , आइए पता करते हैं,

क्रमांक स्पेशल कैरेक्टर
पहला करली ब्रैकेट्स{}
दूसरा कर्व ब्रैकेट्स ()
तीसरा स्क्वायर ब्रैकेट []
चौथा सेमी कोलन,;
पांचवा डबल कोट्स""

जावा में code की प्रत्येक लाइन जो एक्चुअली में रन हो सकती है , वह एक क्लास के अंदर होनी चाहिए,


class MyClass{
public static void main(String[] args{
System.out.print("Hello World");
}
}

दिए गए उदाहरण में हमने क्लास का नाम माइक्लास रखा है, चिंता ना करें अभी हम क्लास के बारे में और देखेंगे,

जब आप जावा प्रोग्रामिंग सीखना शुरू करते हैं , तो सबसे पहले आपका परिचय जिस मेथड से होता है, वह मेन मेथड होता है

जिसे देखकर आपने यह आपने निश्चित तौर पर सोचा होगा या सोचेंगे कि , मेन मेथड, पब्लिक स्टैटिक और void क्यों होता है?,

क्योंकि ज्यादातर हम लोग जावा पढ़ने से पहले सी और सी प्लस प्लस पढ़ते हैं,

इसलिए हम मेन मेथड से परिचित होते हैं , लेकिन जावा मेन मेथड थोड़ा सा डिफरेंट होता है ,

यह कोई भी वैल्यू रिटर्न नहीं करता है

जैसे कि C int रिटर्न करता है

किसी भी कोर जावा प्रोग्राम में प्रत्येक एप्लीकेशन में एक एंट्री प्वाइंट या स्टार्टिंग पॉइंट होता है , जहां से जावा का प्रत्येक प्रोग्राम स्टार्ट होता है , जो कि एक मेथड है जिसे मेन कहा जाता है

ध्यान दे कि हम सर्वलेट , MIDlet , या अन्य कंटेनर द्वारा मैनेज जावा प्रोग्राम की बात नहीं कर रहे हैं , जहां एग्जीक्यूशन को कंट्रोल करने के लिए लाइफ साइकिल मेथड प्रदान किए जाते हैं ,

कोर जावा प्रोग्राम में एग्जीक्यूशन main मेथड से स्टार्ट होता है

जब आप जावा मेन क्लास नेम टाइप करते हैं तब JVM public static void main(String args[]) method को उस क्लास में सर्च करता है,

public static void main(String args[]) जावा में मेन मेथड का सिगनेचर होता है ,

अगर JVM इस method को नहीं पाता है तो एक्सेप्शन throws करता है और टरमिनेट हो जाता है।

main मेथड को strictly इसके syntax को फॉलो करना होता है , अन्यथा JVM इसको लोकेट नहीं कर पाएगा और प्रोग्राम कभी रन नही होगा,

इसका एग्जैक्ट सिग्नेचर जैसा कि हमने ऊपर बता दिया है

public static void main(String args[])

यह सिगनेचर क्लासिक सिगनेचर होता है जोकि जावा के स्टार्ट से है ,

लेकिन variable argument या varargs के java5 में आने के बाद आप जावा मेन मेथड को varargs syntax के रूप में भी declare कर सकते है ।

यह रहा उदाहरण,


class MyClass{
public static void main(String... args){
System.out.print("Hello World");
}
}

याद रखें जावा main method का varargs version जावा 1.5 या उसके बाद के वर्जन में ही काम करेगा,

पब्लिक स्टैटिक और void के अलावा कुछ keywords जैसे कि

  1. final
  2. synchronized
  3. strictly
को भी जावा main मेथड सिग्नेचर परमिट करता है,

मेन मेथड का मेन स्माल लेटर में होता है और यह कीवर्ड नहीं है,

अब जब हमने मेन की बात कर ही दी तो , ऊपर दिए गए प्रोग्राम में आपको उसी लाइन में प्रोग्राम में पब्लिक, स्टैटिक और void कीवर्ड भी दिख रहे होंगे।,

इनका क्या मतलब है , आइए देखते हैं,

पब्लिक (public)

जावा में कई एक्सेस मोडीफायर होते हैं जैसे कि प्राइवेट प्रोटेक्टेड और पब्लिक , कोई भी मेथड या वेरिएबल जो जावा में पब्लिक डिक्लेअर किया जाता है , वह क्लास के बाहर से एक्सेस किया जा सकता है , इसीलिए मैन मेथड पब्लिक होता है ,ताकि इसे आसानी से JVM द्वारा एक्सेस और एग्जीक्यूट किया जा सके,

स्टैटिक

मेन मेथड स्टैटिक होता है , ताकि जावा वर्चुअल मशीन इसे कॉल कर सके बिना उस क्लास का इंस्टेंस बनाए जिसमें मैन मेथड होता है , कुछ भी जो जावा क्लास मैं डिक्लेअर किया जाता है वह रिफरेंस टाइप के अंतर्गत आता है , जिसे यूज करने से पहले उसका ऑब्जेक्ट क्रिएट करना आवश्यक होता है , लेकिन स्टैटिक मेथड और स्टैटिक डाटा JVM के अंदर सेपरेट मेमोरी में लोड होता है , जिसे context कहा जाता है , जोकि क्लास लोड होने पर क्रिएट होता है , यदि मेन मेंथड स्टैटिक है तो यह JVM context में लोड होगा और execution के लिए अवेलेबल रहेगा, और भी बहुत से कारण है लेकिन इनिशियल लेवल पर वह आवश्यक नहीं,

Void

क्योंकि जावा में ऐसा माना जाता है , कि मेन मेथड कोई भी वैल्यू रिटर्न नहीं करता इसलिए इसे void बनाया जाता है ,जिसका मतलब है कि मेन कुछ भी रिटर्न नहीं करेगा

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ